highlights
14872 Audio Programmes | 34 Program Languages | 44 Program Themes | 156 CR Stations | 56 CR Initiatives | and growing...

MKP (Pairs, Bundles and Dozens) Ep - 17 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

इम्तेहान खत्म हो गए और सबीहा भी नानी के घर से लौट आई है. सबीन ने सबीहा को बताया कि कैसे उसे टाइम देखना भी आ गया और अब ज्‍यादा मुमकिन है कि वो उठने में या कहीं जाने में देरी नहीं करेगा . खैर देरी होगी या नहीं ये तो आने वाला वक्‍त ही बतायेगा. फिलहाल तो मेवात में फसल की कटाई शुरू हो गयी है जिसमे सबीहा और सबीन भी अपने अम्मी अब्बू को मदद करने की सोच रहे हैं. चलिए देखते हैं आज मैथ इन्हें कहाँ मिलेगी...

MKP (Sam and Visham final) Ep - 14 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

आज ईद है. कल बहुत परेशान हो रहे थे सबीहा और सबीन. उन्हें यह खौफ खाए जा रहा था की शायद काली को कोई बली का बकरा न बना दे. लेकिन अम्मी ने तसल्ली दिलाई और बताया की बली के लिए बकरा होता है बकरी नहीं. कम से कम अम्मी की बात सुनकर यह ऐतबार हो गया था की काली जहाँ भी होगी सुरक्षित होगी उसे कोई नुक्सान नहीं होगा. बहराल आज इतना बड़ा त्यौहार है, यह सब सोचने का समय कहाँ मिलेगा. सारे रिश्तेदार जो आ रहे हैं. बरसों से ईद का त्यौहार सबीहा और सबीन के घर में हे मनाया जाता है, चाचा चाची, बुआ, वच्चे- कच्चे, पूरा कुटुंब सब यहीं इकट्ठे होते हैं. आज काम भी बहुत करना होगा.

MKP (Time) Ep - 15 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

आदाब। मस्‍ती की इस पाठशाला में आप सबका स्‍वागत है। अपने नये सुननेवाले भाइयों बहनों को मैं यह जरूर बताना चाहूंगी कि इस प्रोग्राम के जरिए हम मेवात के लोगों के दिलो दिमाग से मैथ यानी हिसाब से जुडी दहशत को दूर करना चाहते है। और इसके लिए सबीन और सबीहा आपको हिसाब सीखने के कुछ आसान तरीको से रूबरू कराते हैं। भई चूकि सबीहा के इम्‍तेहान खत्‍म हो चुके इसलिए छुटिृटयों में वह अपनी नानी के यहाँ गई हुई है और अब सबीन मियां घर पर अकेले रह गये हैं अपनी अम्‍मी अब्‍बू के साथ। उनके इम्‍तेहान भी सर पर है और गणित के पेपर के लिए उसने अच्‍छी तैयारी भी की है। आइये जरा नजर डालते है कि कैसे शुरू हो रहा है उनका दिन.....

MKP (Ek Ank Ka Jod) Ep - 12 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

"मस्ती की पाठशाला" के इस भाग में अंक के जोड़ के बारे में बताया गया हैं |

MKP (Ek Ank Ka Ghata) Ep - 13 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

मस्ती की पाठशाला के इस भाग में हम जानेंगे की अंको को किस तरह से घटाया जाता हैं |

MKP Big, Small, Inside, Outside (Ep - 2) ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

आईये चलते हैं कोटला गाँव में जहाँ लोगों की सोच यह है की उनकी ज़िन्दगी में गणित का कोई इस्तेमाल नहीं होता. बच्चे भी यहीं सोचते हैं और इसीलिए मैथ में रूचि नहीं लेते. और तो और मैथ को एक हवुआ बनाकर रख दिया है. डर के मारे उससे दूर भागते हैं. ज़िन्दगी की व्यस्तता में वैसे भी मैथ के लिए समय कहाँ. देखिये तो ज़रा सूरज उगा भी नहीं है और गाँव के लोग अपने अपने काम पर लग गये हैं/ खेत के काम, खाना पकाने का काम, जानवरों की देखभाल का काम, बच्चों की परवरिश, पैसे कमाने की उलझनों में ही उलझे रहते हैं मेवात के लोग. कई परिवार तो घर के काम काज के बोझ में आकर बच्चों को स्कूल भी नहीं भेज पाते. लेकिन इसी माहौल में रहता है एक अनोखा परिवार. अफताब हुसैन का परिवार एक छोटा सा परिवार है. उनके सिर्फ दो बच्चे हैं सबीहा और सबीन. दोनों बच्चो को स्कूल बहुत पसंद है क्यूंकि यहाँ उन्हें बहुत कुछ सीखने को जो मिल रहा है. खेल खेल में उनकी मैथ के बारे में समझ बढ़ रही है. उनका डर भी दूर होता जा रहा है. इस मस्ती की पाठशाला से हेमिएँ उम्मीद है की सबीहा और सबीन का ही नहीं बल्कि पुरे मेवात के बच्चों की मैथ के प्रति रूचि बढ़ जायेगी. तो चलिए आज से शुरू करते हैं अपने सामुदायिक रेडियो रेडियो मेवात पर मस्ती की पाठशाला गणित की पाठशाला.

MKP on Introduction (Ep - 1) ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

रेडियो मेवात पर एक नया कार्यक्रम चलाएंगे जिसकी सफलता के लिए हमें आप सबका सहयोग चाहिए होगा. लेकिन कार्यक्रम को शुरू करने से पहले क्यों न थोड़ी सी अपने मेवात की बात हो जाये. ये कहानी है अपने ही छोटे से जिले मेवात की जहाँ 10 लाख के आसपास की आबादी रहती है और 500 के करीब गाँव हैं. यहाँ हर परिवार में कम से कम 6-8 बच्चे हैं जिनमे कई को कभी भी स्कूल जाने का मौका नहीं मिला या मिला तो जल्द ही किसी न किसी कारण उन्होंने स्कूल छोड़ दिया. यूं तो कारण गिने तो काफी हैं- जैसे की स्कूल दूर होना, आने जाने में दिक्कत होना, टीचर की गैर मौजूदगी, घर के ढेरों काम, माँ बाप का पढाई को महत्व न देना, उसके फायदे न समझना . फिर पढ़ कर भी करें तो क्या? नौकरी है नहीं , फैक्ट्री है नहीं, अच्छे कॉलेज है नहीं, टीचर का अभाव है . कमाने का जरिया या खेती है या फिर मजदूरी है. स्कूलों में भी बुनियादी ढांचों की कमी नज़र आती है.

MKP on Zero (Ep - 9) ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

आज महीने का दूसरा शनिवार है और सबीहा और सबीन की छुट्टी है. दोनों ने आज के दिन को मजेदार और रोमांचक बनाने की सोची है. तो चलिए जल्दी से सुनते हैं कैसे वो रोमांच और मस्ती के साथ कुछ नया सीखते हैं.

MKP (1 - 9) Ep - 10 ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

मस्ती की पाठशाला के इस भाग में हम 1 से लेकर 9 तक की गिनती के बारे में जानेंगे |

MKP on counting 10-99 (Ep - 11) ( Hindi)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

दोस्तों आपको मज़ा आ रहा है न इस मस्ती की पाठशाला में. जहाँ हम रोज़ नयी बातें सीखते हैं. हमने एक अंक की गिनती सीखी, साथ ही मैथ के कई दिलचस्प कॉन्सेप्ट्स भी जाने. इस मस्ती की पाठशाला में हम अपने रोज़मर्रा ज़िन्दगी से मैथ को जोड़ा और हम मैथ को अपने करीब पाने लगे.हमें पूरी उम्मीद है की हमारे मेवात के बच्चे भी अब हर चीज़ में मैथ को ढूंढते हैं जैसे की सबीहा और सबीन. चलिए तो देखते हैं की आज काली की खोज में मैथ का कौन सा राज़ खुलेगा हमारे आज के एपिसोड में.

Drama

786 Programme(s)

A radio drama is also known as a radio play. Radio plays are similar to any other play with an important difference being that it does not have such defining components of a stage play like curtain, set or live actors. However, a radio programme is characterized by three components